सुहागरात कैसे मनाएं (Suhagrat Kaise Manaye)

अधिकतर युवाओं में यह बहुत बड़ी उलझन रहती है कि सुहागरात कैसे मनाये. आज हम इसी विषय पर बात करेंगे.

पुरुष सुहागरात कैसे मनाये

पुरुष को चाहिए कि माहौल को सहज बनाने की कोशिश करें. इसलिए शुरुआत दोस्ती से की जाए तो बेहतर है. दोनों एक-दूसरे को बगैर स्पर्श किये, अपने विषय में कुछ रोमांटिक अंदाज में कहें. एक-दूसरे का स्वागत अपनी जिंदगी में करें. उनकी घबराहट को दूर करने में उनकी मदद करें.
शादी में क्या-क्या हुआ, इस पर चर्चा करें. उनकी की तारीफ़ करें. तारीफ़ के लिए कुछ शायरी याद कर लें तो और भी बेहतर है. दोस्ताना प्रतिक्रिया मिलने पर उनका हाथ पकड़ें. आप दोनों की जिंदगी की यह पहली सुहागरात है, इस रात को धीरे-धीरे आगे बढ़ने दें.
याद रखे ये पल जो इस वक्त गुजर रहे हैं, वो फिर कभी नहीं मिलेंगे, और इसका परभाव सारि उम्र रहनेवाला है. इसलिए सलीके से पेश आएं.

महत्वपुर्ण जानकारी
ऐसा जरूरी नहीं है कि इस खास रात में शारीरिक संबंध कायम किया जाए. यह तभी करें जब आपकी नयी-नवेली दुल्हन इसके लिए खुद तैयार हों, इसके लिए ज़ोर-ज़बरदस्ती करना ठीक नहीं होगा. यह रात दो जिन्द्कियो के मिलन की रात है इसमें शारीरक मिलान आवश्यक नहीं है. आवश्यक यह है की आप अपने जीवन साथी से दोस्ती करें. उसके बाद दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में खुद ही बदल जायेगी. प्यार होने के बाद के मिलन का मज़ा ही अलग है.

लड़किया सुहागरात कैसे मनाएं

अगर आपकी शादी आपकी मर्जी से हुई है
आपकी शादी अगर आपकी मर्जी से हुई है तब तो आपको घबराहट नहीं होनी चाहिए. इस शादी के लिए आपकी सहमति थी तब तो आप खुश होंगे अगर अपनी पास्ट अभी तक शेयर नहीं कीं हैं तो अभी मत कीजिये. अपने रिश्ते को पहले समय दे समझें. अपने साथी को पहले अच्छी तरह जान लें. रिश्तों में गहराई आने के बाद ही कुछ कहें. फिलहाल इस रात को यादगार बनने दें. इस रात में आप भी सपोर्ट करें, ध्यान रखें कि सुहागरात में शब्दों से अधिक बॉडी लैंग्वेज बोलती हैं. आप भले ही अपने उनको पहले से जानती हों, फिर भी मन में एक झिझक होगी. जब आप उन्हें जानती थी तब एक लड़की थी, लेकिन अब आप एक दुल्हन हैं.

यदि आपकी शादी अरैंजड है
अगर आप एक-दूसरे से बिल्कुल अंजान हैं. शादी से पहले आप उनसे कभी नहीं मिली हैं तो मन में एक डर होगा. सबसे पहले तो इस डर को निकाल फेंकें. हमें पता है कि इस डर को निकालना आसान नहीं है. फिरभी आपको मन से स्ट्रांग बनना ही होगा. आप इस वक्त जिनके साथ में हैं वो कोई और नहीं आपके जीवन साथी हैं. इस सच को स्वीकार कर लें कि आपकी पूरी ज़िन्दगी अब उनके साथ ही गुजरने वाली हैं. उनकी ज़िन्दगी भी अब आपके नाम हो चुकी है. सुहागरात की इस विशेष रात में पास्ट की फिक्र बिल्कुल भी ना करें. हो सकता है शादी से पहले आपकी शारीरिक सम्बन्ध बन चुके हों. फिर भी घबराने की कोई जरूरत नहीं. अपने मन से इस डर को निकाल फेंकें कि आप पकड़ी जाएंगी. एक बात ध्यान रखें कि वर्जिनिटी की कोई पहचान नहीं होती.

 

सुहागरात में कमरा कैसे सजाये

नए जोड़े की जिंदगी की खास रात होती है सुहागरात. इस रात को यादगार और रंगीन बनाने के लिए कमरे की सजावट का खूबसूरत होना जरूरी है. आप दोनों की जिंदगी को रंगीन और खुशबूदार बनाने के लिए अपने कमरे में विशेष प्रकार के रंग और खुशबू का प्रयोग करें. फूलों से महकते हुए खूबसूरत कमरे में आपका मूड रोमांटिक हो जाएगा. फूलों से सजा कमरा नव दंपत्ति को एक-दूसरे के करीब लाने में मदद करेगा. इसलिए ताजे गुलाब, मोगरा, रातरानी, जूही आदि फूलों से सेज सजाएं. इस खास रात के लिए स्पंज या फोम वाला बिस्तर हो तो बेहतर है, इससे आप दोनों आनंदित महसूस करेंगे.

 

सुहागरात में सावधानी

सुहागरात में जल्दबाजी से बचे – आमतौर पर नवविवाहित जोड़े जल्दबाजी और उत्तेजना की वजह से उस सुख से वंचित रह जाते हैं.
सुहागरात में नशे से बचें – सुहागरात में सिर्फ सुहागरात का आनंद लें. नशा इंसान के मानसिक स्थिति का क्या हाल करता है आप जानते हैं. हो सकता है आपके साथी को नशा नापसंद हो. इस से आपकी सुहागरात खराब हो जायगी.
कंडोम का इस्तेमाल – कंडोम का इस्तेमाल करना न भूलें.
जबजस्ती न करे – अंतिम और महत्वपूर्ण सेल्हा आपकी लिए यही है की अगर महिला सम्भोग के लिए अभी त्यार नहीं है तो जबरजस्ती न करे.

हम आशा करते है इस जानकरी से आप अपनी सुहागरात यादगार बनायेंगे.
धनयवाद
Dr Ashok Gupta