khansi ka gharelu upay

खांसी के घरेलू उपाय

खाँसी सबसे आम स्वास्थय समस्याओं में से एक है । जब कोई रूकावट या तकलीफ देने वाली अड़चन आपके गले या ऊपरी वायु मार्ग में होती है, तो आपका दिमाग आपके षरीर को संकेत देता है, इस अड़चन को हम खाँसने के द्वारा निकालते हैं। खाँसी एक वायरल संक्रमण है, यह विभिन्न स्वास्थय समस्याओं जैसे अस्थमा, टी.बी, और फेंफड़ों के कैंसर का कारण भी हो सकती है ।

खाँसी के कुछ लक्षण हैं – गले में खराष, सीने में दर्द और रक्तसंकुलता । खाँसी की बीमारी के लिए कफ सिरप की बजाय कुछ प्राकृतिक उपचार अपने रसोई घर में आसानी से उपलब्ध सामग्री का उपयोग करके कर सकते हैं ।

खाँसी के दस घरेलू उपचार निम्नलिखित है –

1. खाँसी से छुटकारा पांए लहसुन से ।

लहसुन में जीवाणुरोधी और रोगाणुरोधी दोनों घटक होते हैं जो खाँसी के इलाज में मदद करते हैं । तीन लहसुन की लौंग और एक चम्मच अजवायन गर्म पानी में मिला लें इसके ठंड़ा होने पर इसमें थोड़ी सी मात्रा में षहद मिलाकर पी लें । यह सांस लेने और अन्य खाँसी के लक्षणों मे जल्द राहत देगा । पिसा हुआ लहसुन को लौंग के तेल की कुछ बूंदो में मिलाकर पीने से खाँसी में राहत मिलेगी एंव खाने में लहसुन का प्रयोग करने से भी राहत मिलती है ।

2. खाँसी रोकने का उपाय नींबू है ।

नींबू को भी हम खाँसी के इस्तेमाल के लिए उपयोग कर सकते हैं, नींबू के गुण सूजन कम कर देते हैं और संक्रमण से लड़ने वाले विटामिन प्रदान करते हैं । दो बड़े चम्मच नींबू का रस के साथ एक बड़ा चम्मच षहद मिलाकर सीरप बनाकर पीने से खाँसी में जल्द आराम मिलता है । नींबू को हम खाँसी से बचाव के लिए एक और तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं- थोड़े से षहद के साथ एक चुटकी लाल मिर्च और नींबू का रस मिलाकर पीने से खाँसी में जल्द आराम मिलता है ।

3. खाँसी से छुटकारा पाने का घरेलू नुस्खा है अदरक ।

अदरक को खाँसी के सबसे लोकप्रिय प्राकृतिक इलाजों में से एक माना जाता है। ताजा अदरक को छोटे स्लाईस में काटकर पीसने के बाद उन्हें एक कप गर्म पानी में उबालकर आप इस हर्बल समाधान को दिन में तीन से चार बार पिंए इससे गले की खराष और खाँसी में जल्द राहत मिलती है । आप जल्दी खाँसी को कम करने के लिए दिन भर में कच्चे एंव ताजा अदरक को चबा सकते हैं ।

4. खाँसी को दूर करने का घरेलू उपाय लाल मिर्च है ।

लाल मिर्च लगातार खाँसी होने के कारण से होने वाले सीने के दर्द को कम करती है । यह गर्म होने के साथ-साथ उत्तेजक भी होती है । एक चैथाई चम्मच लाल मिर्च, एक चैथाई चम्मच अदरक, एक बड़ा चम्मच षहद, एक बड़ा चम्मच सेब का सिरका, और दो बड़े चम्मच पानी मिलाकर इस मिश्रण को तैयार करें एंव इस मिश्रण को दिन में दो से तरन बार पिंए । इससे खाँसी एंव खाँसी से होने वाले सीने के दर्द में लाभ मिलता है ।

5. खाँसी रोकने का घरेलू उपाय है प्याज ।

खाँसी के लिए सबसे सरल नुस्खों में से एक नुस्खा प्याज को काटना है, इस मजबूत वाश्प में सांस लेना खाँसी को रोकने में मदद करता है। आप पके हुए प्याज के रस, कंफ्री, चाय और षहद को मिलाकर खाँसी की घरेलू सिरप बना सकते हैं, इसका दैनिक रूप से सेवन करने से सूखी खाँसी से राहत मिलती है । आधा चम्मच प्याज के रस के साथ आधा चम्मच षुद्व षहद मिलाकर पीने से खाँसी से राहत मिलने के साथ गला भी षांत हो जाता है ।

6. खाँसी को दूर रखने का घरेलू उपाय है हल्दी ।

हल्दी एक आयुर्वदिक जड़ी-बूटी है। हल्दी का खाँसी विषेश रूप से सूखी खाँसी पर एक उपचारात्मक प्रभाव पड़ता है । एक उबलते हुए बर्तन में आधा कप पानी गर्म करें, उसमें एक चम्मच हल्दी पाउड़र और एक चम्मच काली मिर्च पाउड़र मिलाँए, आप दालचीनी भी मिला सकते हैं । इसको दो से तीन मिनट तक उबालें एंव इसमें षहद का एक बड़ा चम्मच मिलाँए, और इसे दैनिक रूप् से पिएं तब तक हालत में सुधार न हो जाए ।

हल्दी को हम एक और तरीके से उपयोग कर सकते हैं – हल्दी की जड़ को भून कर एक मुलायम पाउड़र की तरह पीस लें, इस मिश्रण को पानी और षहद के साथ मिलाकर दिन में दो बार पिएं ।

7. खाँसी से बचने का घरेलू नुस्खा है बादाम ।

बादाम में पोशण गुण होते हैं जो कि खाँसी के लक्षणों के उपचार में एक सक्रिय भूमिका निभाते हैं । पांच से छह बादाम पानी में भिगोकर रखें एंव इन्हे निकालने के बाद इनका एक चिकना पेस्ट तैयार करें एंव इसमें एक चम्मच मक्खन मिला लें, यह पेस्ट दिन में तीन से चार बार खांए जब तक आपको खाँसी एंव इसके लक्षणों से आराम न मिल जाए ।

8. खाँसी को कम करने का उपाय है अंगूर ।

टंगूर सेहत के लिए बहुल लााभदायक होते हैं एंव खाँसी से बचाव के लिए भी अंगूर का उपयोग किया जाता है । अंगूर आपकी सांस की प्रणाली के प्रभावित हिस्सों से बलगम हटाने का काम करता है, जितनी जल्दी बलगम निकलेगा उतनी जल्दी आपको खाँसी से आराम मिलेगा । आप सीधे अंगूर को खा सकते है एंव इसका रस निकालकर भी पी सकते हैं । अगर अंगूर के रस में एक चम्मच षहद मिला लेें तो ये खाँसी के लिए बहुत ही गुणकारी है ।

9. खाँसी से तत्काल राहत दिलाता है षहद के साथ गर्म दूध ।

षहद के साथ गर्म दूध पीने से सूखी खाँसी से हो रहे गले में दर्द और लगातार खाँसी होने से गले के दर्द में आराम मिलता है। सर्वोतम परिणाम के लिए इसे सोने से पहले प्रतिदिन पिएं । सुबह उठकर खाली पेट षहद पीने से बलगम साफ करने और गले को षांत करने में मदद करता है ।

10. खाँसी को दूर करने का घरेलू उपाय है गाजर का रस ।

गजर में अनेक प्रकार के विटामिन एंव पोशक तत्व होते हैं जो कि खाँसी के विभिन्न लक्षणों में मदद करते हैं। चार से पांच गाजर का रस बनाएं एंव थोड़ा पानी मिलाकर इसे पतला कर लें । अपने स्वादनुसार आप इसमें षहद भी मिला सकते हैं । एक दिन में तीन से चार बार गाजर के रस को पिएं तब तक आपको खाँसी में सुधार न मिल जाए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *