शीघ्रपतन के कारण | Shighrapatan Ke Karan

सम्भोग के समय या पहले वीर्य के शीघ्र स्खलित हो जाने को ही शीघ्रपतन की समस्या कहते है, कई बार तो ये समस्या इतने बढ़ा जाती है की योनि में लिंग के प्रवास से पहले संखलेन हो जाता है ।

शीघ्रपतन की समस्या तीन तरह की होती है –

1. सेक्स करने से पहले वीर्य का गिर जाना
3. सेक्स करने के तुरंत बाद वीर्य गिर जाना
4. किसी पुरुष की इच्छा होना से पहले हे वीर्य गिर जाना

शीघ्रपतन के मनोवैज्ञानिक कारण –

अधिकतर शीघ्रपतन के कारण शारीरक न हो क़र मनोविज्ञानिक होता है । शीघ्रपतन के कई मनोविज्ञानिक कारण हो सकते है ।

1. महिला से पहली बार सम्बन्ध बनाना ।
2. नींद पूरी ना होने से प्रभावित हो सकता है आपका यौन जीवन]
3. सेक्स में कम अनुभव होना ।
4. अधिक उत्तेजित होना ।
5. सेक्स के बारे में अधिक सोचना ।

शीघ्रपतन के फिजिकल कारण :

1. डायबिटीज(मधुमेह)
2. मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस
3. पुरस्थग्रंथि(प्रोस्टेट ग्लैंड) में विकार
4. .उच्च रक्तचाप
5. थाइरोइड की समस्या
6. अनुचित दवाओं का सेवन
7. अत्यधिक अल्कोहल का सेवन
8. गुप्तअंग में कमजोरी के कारण

शीघ्रपतन का असर

वैसे तो शीघ्रपतन का प्रजनन अंग पर या आपके शरीर पर कोई असर नहीं पड़ता. पर इससे आपकी जिंदगी अयस्त – व्यस्त हो सकती है । क्योकि शीघ्रपतन के कारण आप अपनी पार्टनर को संतुस्ट नहीं कर पाते । जिस से महिला में चिड़चिड़ापन आने लगता है । ऒर आपसे में झगड़े होने लगते है । कई बार तो महिलाये इस सन्तुस्टि को बाहर तलाशने लगती है । ऒर बसा – बसाया घर टूट जाता है ।

शीघ्रपतन का इलाज

आयुर्वेद में शीघ्रपतन के लिए काफी सारि जड़ीबूटियां है जिनसे बहुत आसानी से शीघ्रपतन का इलाज किया जा सकता है । हम अशोक क्लिनिक के माध्यम से लाखो मरीजों की शीघ्रपतन की समस्या का इलाज कर चुके है । अगर आप को भी ऐसी कोई समस्या है तो संकोच न करे अपने खुशहाल जीवन को बर्बाद होने से बचाए ।

डॉ अशोक गुप्ता
अशोक क्लिनिक दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *