दिल दिमाग व कमजोरी की समस्या से किसी भी उम्र में स्त्री पुरुषों का अनजाने में रात को बिस्तर गीला कर देने (Urinating in bed problem) के कारण कई लोग रात को सोने से पहले पानी पीने से भी डरते हैं वो नहीं जानते कि सोने से पहले पानी नहीं पीना पेशाब में इन्फेक्शन पैदा करता है।

Urinating in bed

असल में बिस्तर गीला करना खाली मूत्राशय की कमजोरी की समस्या  नहीं है, बल्कि पेशाब का होना किसी भी उम्र में दिल के कार्य की असफलता के कारण होता है जिस वजह से शरीर के निचले हिस्से में खून बहुत कम मात्रा में पहुँचता है | दिन के दौरान हम सभी खड़ी स्थिति में होते है जिस वजह से रक्त नीचे बह जाता है, यदि दिल अच्छा नहीं है तो दिल में खून की मात्रा कम हो जाती है व निचले शरीर पर खून का दबाब बढ़ जाता है इसलिए दिन में शरीर के नीचले हिस्से में ओडिमा ( खून में पानी का बढ़ना ) हो जायेगा | जब वह रात में लेटते है तो शरीर के नीचले हिस्से में राहत मिलती है और उत्तको में बहुत ज्यादा पानी जमा हो जाता है, पानी खून में वापस आ जाता है यदि पानी ज्यादा है तो गुर्दे पानी अलग करने और मुत्राश्य से बाहर  निकलने के लिए मेहनत करते है  इसलिए आम तौर पर सोने के लिए लेटने के बाद और शोचालय जाने के लिए लगभग दो तीन घंटे लगते है उसके बाद खून में पानी बढ़ता रहता है इसलिए दो तीन घंटे बाद उन्हें फिर से पेशाब करने जाना पड़ता है ये दिल दिमाग के कारण होता है क्योंकि दो तीन बार पेशाब करने के बाद खून में पानी बहुत कम हो जाता है सांस लेने से शरीर में पानी की कमी भी बनी रहती है | खून फिर गाढ़ा और लेशदार होने लगता है और नींद में शरीर के कम रक्तचाप के कारण दिल की गति धीमी हो जाती है मोटे और धीमे रक्त प्रवाह के साथ रक्त वाहिका का स्टेनोसिस आसानी से अवरुद्ध हो जाता है यही कारण है कि लोगो में लगभग सुबह 4 और 6 बजे मस्तिष्क रोधन होता है इस हालत में सोते समय मौत भी हो सकती है। इसलिए आपको ये समझना चाहिए कि बिस्तर गीला करना मूत्राशय की खराबी नहीं है, और दूसरी बात ये कि आपको सोने से पहले कुछ गर्म पानी पीना चाहिए और रात को पेशाब करने के लिए उठने के बाद कुछ गर्म पानी और पीना चाहिए, पेशाब करने से डरना नहीं चाहिए क्योंकि पीने का पानी आपकी जान नहीं ले सकता |

heart problem

दिल दिमाग के कार्य को मजबूत करने के लिए आपको सुबह शाम व्यायाम करना चाहिए नहीं तो कम से कम सुबह 300 ग्राम पानी पीके 40 मिनट के लिए जितना भी तेज चला जाये चलना चाहिए और रात  खाना खाने के बाद 20 मिनट पैदल जरूर चलना चाहिए इससे शरीर की ताकत बढेगी, हाजमा ठीक रहेगा।  मानव शरीर  मशीन नहीं है जो अक्सर इस्तेमाल होने पर ख़राब हो जाएगी बल्कि मानव शरीर से  बार बार काम लेने पर यह और मजबूत होता है।  ख़राब भोजन विशेष रूप से उक्त रक्तचाप वाले तले भुने और नशीले प्रदार्थ सेवन न करें इतना कुछ करने के प्रश्चात भी बिस्तर गीला करने की बीमारी में लाभ न हो तो अपने विश्वशनीय चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए |

अशोक क्लिनिक पीतमपुरा दिल्ली गत 50 वर्षो से ऐसे ही रोगो की चिकित्सा में सेवार्थ है

23 Comments

Leave a comment

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help